Domicile Certificate क्या होता है, कैसे बनवाए ?

0
117

जब आप अपने स्कूल या कॉलेज में छात्रवृति के लिए आवेदन करते है या किसी सरकारी नौकरी पाने के लिए फॉर्म भरते है तो वहां आपको Domicile Certificate की आवश्यकता पड़ती है।

Domicile Certificate का मतलब क्या है?

Domicile Certificate को हिंदी में मूल निवासी प्रमाण पत्र कहते है, इसे Residential Certificate अर्थात आवासीय प्रमाण पत्र भी कहते है। इस Domicile Certificate को जिले के तहसीलदार या नयाब तहसीलदार के द्वारा जारी किया जाता है।

मूल निवासी प्रमाण पत्र क्या है ?

Domicile Certificate जिसे मूल निवासी प्रमाण पत्र कहते है, यह एक सरकारी दस्तावेज होता है जिसका इस्तेमाल कई सारे सरकारी कामो से लेकर छात्रवृति प्राप्त करने या कॉलेज में एडमिशन लेने के करते है।

यह सरकारी दस्तावेज आपके किसी राज्य में रहने का सबूत होता है। आप 15 साल से किसी राज्य में निवास कर रहे है तो यह सर्टिफिकेट आपके उस राज्य में रहने के बात को प्रमाणित करता है।

मूल निवासी प्रमाणपत्र बनवाने हेतु जरुरी दस्तावेज

• आधार कार्ड

• वोटर आईडी कार्ड

• राशन कार्ड

• बिजली का बिल

• पानी का बिल और फोटो

डोमिसाइल सर्टिफिकेट कैसे बनए

Domicile Certificate को आप अपने घर के नजदीकी किसी भी सेवा केंद्र में आसानी से बनवा सकते है।

इस सर्टिफिकेट को बनवाने में 15 दिन का समय लगता है तथा इसे बनवाने में 30 से 100 रूपए लगते है जो सभी जगह अलग अलग होता है।

Domicile Certificate की जरूरत कहाँ पड़ती है ?

जब आप किसी कॉलेज या स्कूल में एडमिशन लेते है वो वहां आपसे कभी कभी Domicile Certificate मांग लिया जाता है।

इसके अतिरिक्त छात्रवृति का फॉर्म भरने और सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करने के लिए इस दस्तावेज का होना बहुत जरूत है क्युकी इसके बिना आप छात्रवृति या सरकारी नौकरी के लिए आवेदन नहीं कर सकते।

इसके अलावा बैंक में लोन लेते समय इस सर्टिफिकेट को मांग लिया जाता है। यह सर्टिफिकेट हर व्यक्ति के अनिवार्य होता है क्युकी यह एक सरकारी दस्तावेज है इसलिए इसकी जरूरत पड़ती ही रहती है।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here