Indian law|भारतीय कानून क्या है ?

0
89

देश में शांति और व्यवस्था बनाई रखने के लिए भारतीय कानून (Indian law) का निर्माण किया गया है।

भारतीय कानून में अपराधों को रोकने अन्याय को कम करने का प्रावधान है।

भारतीय कानून लोगो की हितो की रक्षा करता है। इंडिया का कानून में सभी धर्मो का सम्मान किया जाता है तथा उन्हें बराबर का हक़ दिया जाता है यह किसी भी जाति , धर्म , समुदाय से पक्ष पात नहीं करता है।

What is Indian law|भारतीय कानून क्या है ?

कानून एक संवैधानिक व्यवस्था है कानून द्वारा नियमो का निर्माण होता है तथा हमें नियम का पालन करना होता है तथा पालन न करने पर हमें दंड भी दिया जा सकता है ।

कानून शब्द का मतलब होता है, की स्थिरता अर्थात जो चीज़ स्थिर रहे, कानून की प्रवित्ति स्थिर होती है, कानून राज्य सरकार द्वारा अपने क्षेत्र में शान्ति पूण स्तिथि के लिए लगाया जाता है।

कानून व्यवस्था तनाव रहित वातावरण का निर्माण करती है, भारतीय संविधान सभी को समता तथा समानता का अधिकार देता है, किसी भी क्षेत्र चाहे वो नगर।

गांव , राज्य तथा देश में शांति बनाये रखने के लिए कानून की आवयश्कता होती है, अपराधों को रोकने , तनावपूर्ण वातावरण को कम करने तथा हिंसा और अशांति को रोकने के लिए कानून का निर्माण किया जाता है।

कानून द्वारा अपराधों को रोका जाता है दोषियों को दंड दिया जाता है, भारतीय कानून में हाई कोर्ट , सुप्रीम कोर्ट , तथान्यायलय द्वारा विवादों का निपटारा किया जाता है, तथा प्रत्येक अपराध पर दंडनीय धाराएँ बनाई जाती है।

भारतीय कानून कब लागू हुआ ?

भारतीय कानून का निर्माण 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था इसका निर्माण सविंधान सभा द्वारा किया गया तथा पूण संसदीय लोकतंत्र बना।

सविंधान द्वारा कानून का निर्माण किया जाता है, ग्रह मंत्रालय द्वारा देश के आतंरिक सुरक्ष से जुड़े मामलो का निपटारा किया जाता है, वह कानून का संचालन करती है, तथा इसके प्रति जवाबदेही होती है, ग्रह मंत्रालय द्वारा यह उत्तरदायिक पुलिस प्रशासन को सौपा गया है, तथा पुलिस प्रशासन अपराधों से जुड़े समस्याओ को हल करती है।

यह सार्वजनिक संसाधनों का रखरखाव भी करती है,अपराधियों का पता लगाने और अपराधों के रोकथाम कि जिम्मेदारी स्वीकार करती है ।

भारतीय कानून के फायदे ?

• सभी नागरिको को सामान अधिकार प्रदान कराना।

• उनके मौलिक अधिकार से उन्हें अवगत कराना।

• अपराधों तथा हिंसा को कम करना।

• अपराधियों को उचित दंड देना।

• विवादास्पद स्थिती में नयालयो द्वारा उसे सुलझाना।

• नागरिको के स्वतंत्रता तथा उनके जीवन सुरक्षा करना।

• सभी क्षेत्रों में शांति व्यवस्था बनाना।

• सामाजिक तथा राजनितिक टकराओ को रोकना।

• सभी प्रकार के धर्मो का पालन करना ओर सभी के हित कि सुरक्षा करना

कानून के प्रकार

क्रिमिनल लॉ यह अपराधों से जुड़े प्रवृति के होते है जैसे हत्या , किडनेपिंग , मरने की धमकी इनके भी दो भाग है।

इंडियन पैनल कोड।

कोड ऑफ़ क्रिमिनल प्रोसीजर

सिविल लॉ इसमें अपराधों से जुडी प्रवित्ति नहीं होती है, जैसे शादी से संबंधित , प्रॉपर्टी आदि।

सिविल प्रोसीजर कोड।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here