RTI कैसे करे, माहिती अधिकार अधिनियम में कोन कोन सी धारा का उपयोग होता है।

0
240

आप किसी भी गवर्नमेंट विभाग में अपनी एप्लीकेशन जन सूचना अधिकारी को दे सकते हैं।

अगर आपको एप्लीकेशन लिखनी नही आती तो आप इसके लिए जन सूचना अधिकारी से सहायता प्राप्त कर सकते हैं आप इस एप्लीकेशन को लिखने के लिए किसी भी स्थानीय भाषा का इस्तेमाल कर सकते हैं।

एक बात का ध्यान हमेशा रखें जब भी आपको एप्लीकेशन जन सूचना अधिकारी को दें तो उसकी पहले एक ज़िरोक्स कॉपी जरूर करवा लें और उस पर जन सूचना अधिकारी के साइन जरूर करा लें इससे आपके पास पक्का सबूत हो जाएगा।

ऑनलाइन RTI फाइल करने की प्रक्रिया

ऑनलाइन RTI फाइल करने के लिए आपको ऑफिसियल वेबसाइट www.rtionline.gov.in में जाना है।

ऑनलाइन फॉर्म भरने के लिए आपको सबसे पहले Submit Request के बटन को क्लिक करना होगा जिसके बाद एक पेज खुलेगा जिसमे सारी गाइडलाइन्स होगी|

गाइडलाइन्स को ध्यान से पढ़े, और उसके बाद आपको confirm करना है की आपने पूरी guidelines पढ़ ली है फिर Submit पर क्लिक करें |

उसके बाद आपके सामने एक फॉर्म खुल कर आएगा। इस फॉर्म को आप 2 भाषाओँ हिंदी या इंग्लिश में अपनी सुविधा के अनुसार खोल सकते हैं।

आपको यहाँ जिस department से जुडी जानकारी चाहिए उसके अनुसार फॉर्म को पूरा भरें, यहाँ पर आपको ध्यान रखना है की फॉर्म में सभी detail सही होनी चाहिए |

बाद में जरुरी डॉक्यूमेंट भी अपलोड कर सकते है।

अब एक बार फिर यहाँ सबसे नीचे आपको submit button मिलेगा उस पर क्लिक करें।

Submit करने के बाद आपको इस फॉर्म का एक रिसीप्ट मिलेगा आप इस receipt को store कर के रख लें या फिर प्रिंटआउट कर के निकाल लें |

जब आप इस फॉर्म की status चेक करेंगे तब आपको इस रिसीप्ट की जरुरत पड़ेगी |

ऑफलाइन RTI कैसे फाइल करें।

ऑफलाइन आवेदन करने के लिए पहले आप इसका पता लगा लें आप किस संस्थान की जानकारी लेना चाहते हैं |

जब आप ये निर्णय लें ले की कौन से विभाग की जानकारी चाहिए और वह माहिती कोन से विभाग में से मिल सकती हे उसके बाद एक सफ़ेद पेपर शीट में आवेदन लिखें और सुचना अधिकारी को जमा कर दें |

आपको हर विभाग में एक “लोक सुचना अधिकारी” मिलेगा जिसे आप अपना आवेदन लिख कर दे सकते हैं।

जब आप आवेदन लिखें तो इस लाइन को Subject(विषय) की के सामने जरूर लिखें “आर टी आई अधिनियम 2005 के तहत सुचना की तलाश।

आप अपना आवेदन इंग्लिश या हिंदी किसी भी भाषा में लिख कर दे सकते हैं |

आवेदन पूरा लिख लें तो उसमे आवेदन की तारीख और fees के 10 Rs. का postal order साथ में जरूर attach करें जो की इस प्रक्रिया को पूरा करने के लिए जरुरी है |

जो लोग गरीबी रेखा के निचे आते हैं उन्हें 10 Rs. का fees देने की जरुरत नहीं है लेकिन उन्हें BPL सर्टिफिकेट की एक कॉपी साथ में attach करना पड़ेगा |

आवेदन पत्र में अपना पूरा नाम और पता लिखें, साथ ही अपना साइन भी करें और इसके बाद registered पोस्ट के जरिये इसे सम्बंधित कार्यालय में भेज दें |

RTI से संबंधित जानकारी कितने दिन में मिल जाती है ?

आरटीआई से संबंधित आवेदन पत्र की जानकारी आपको 30 दिन के अंदर मिल जानी चाहिए अगर नहीं मिली तो आप कोर्ट में अपील करने का अधिकार भी रखते हैं।

RTI में कौन- कौन सी धारा का उपयोग किया है।

धारा 6 (1) : RTI का आवेदन लिखने की धारा है।

धारा 6 (3) : अगर आपका आवेदन गलत विभाग में चला गया है, तो वह विभाग इस को 6 (3) धारा के अंतर्गत सही विभाग मे 5 दिन के अंदर भेज देगा।

धारा 7(5) : इस धारा के अनुसार BPL कार्ड वालों को कोई आरटीआई शुल्क नही देना होता।

धारा 7 (6) : इस धारा के अनुसार अगर आरटीआई का जवाब 30 दिन में नहीं आता है तो सूचना निशुल्क में दी जाएगी।

धारा 18 : अगर कोई अधिकारी जवाब नही देता तो उसकी शिकायत सूचना अधिकारी को दी जाए, या अदालत में फरियाद कर सकते हो।

धारा 8 : इस के अनुसार वो सूचना RTI में नहीं दी जाएगी जो देश की अखंडता और सुरक्षा के लिए खतरा कर सकती हे, या विभाग की आंतरिक जांच को प्रभावित करती हो।

धारा 19 (1) : अगर आप की RTI का जवाब 30 दिन में नहीं आता है। तो इस धारा के अनुसार आप अपील अधिकारी को प्रथम अपील कर सकते हो।

धारा 19 (3) : अगर आपकी प्रथम अपील का भी जवाब नही आता है तो आप इस धारा की मदद से 90 दिन के अंदर अपील अधिकारी को दूसरी अपील कर सकते हैं।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here